Wednesday, October 27, 2010


पूरे चाँद से कहो, बुझ जाए
बहती नदी से कहो, थम जाए
झिलमिल बारिश से कहो, लौट जाए
सुहानी हवा से कहो, घर जाए
अपनी यादों से कहो, न आये
या मेरी मौत से कहो...आ जाए

1 comment:

  1. Sonal, grow up. A poetess of your class should be able to do better than this.

    ReplyDelete